webhindijankari

SBI लेकर आया अपने 45 करोड़ ग्राहकों के लिए खुशखबरी 31 अगस्त से पहले जाए स्टेट बैंक में और...

 
SBI लेकर आया अपने 45 करोड़ ग्राहकों के लिए खुशखबरी 31 अगस्त से पहले जाए स्टेट बैंक में और...
भारत के सबसे बड़े सरकारी बैंक ने ग्राहकों को तोहफा दिया है. ग्राहकों को ये फायदा सीमित अवधि के लिए मिल रहा है. अगर आप भी भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) के ग्राहक हैं और होम लोन लेने की योजना बना रहे हैं तो आपके लिए अच्छी खबर है। भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) ने होम लोन पर प्रोसेसिंग फीस कम कर दी है। भारतीय स्टेट बैंक अपने ग्राहकों को रियायती दर पर होम लोन पर 50% से 100% तक की छूट दे रहा है। यह रियायत रेगुलर होम लोन, फ्लेक्सीपे, एनआरआई और ऑन होम पर उपलब्ध है। ग्राहकों को 31 अगस्त 2023 तक एसबीआई होम लोन पर प्रोसेसिंग फीस में छूट मिल रही है। एसबीआई की आधिकारिक वेबसाइट के मुताबिक, एचएल और टॉप अप के सभी वेरिएंट पर कार्ड रेट पर 50% की छूट है। यहां आपको जीएसटी के साथ न्यूनतम प्रोसेसिंग शुल्क 2,000 रुपये और अधिकतम 5,000 रुपये का भुगतान करना होगा। टेकओवर, रीसेल और रेडी टू मूव इन प्रॉपर्टी पर प्रोसेसिंग फीस पर 100 प्रतिशत की छूट मिलेगी। इंस्टा होम टॉप अप, रिवर्स मॉर्टगेज और ईएमडी के लिए प्रोसेसिंग शुल्क पर कोई छूट नहीं होगी। वर्तमान में, बिना रियायत के एसबीआई होम लोन पर प्रोसेसिंग शुल्क होम लोन राशि का 0.35% और जीएसटी है। जो 2,000 रुपये प्लस जीएसटी है. जीएसटी सहित अधिकतम प्रोसेसिंग शुल्क 10,000 रुपये है। 750-800 और उससे अधिक के CIBIL स्कोर के लिए होम लोन की ब्याज दर बिना किसी रियायत के 9.15% है। बता दें कि एसबीआई ने भी करोड़ों ग्राहकों को झटका देते हुए लोन दरें महंगी कर दी हैं. दरअसल बैंक ने एमसीएलआर दर में बढ़ोतरी कर दी है. इससे बैंक के सभी होम लोन और कार लोन महंगे हो गए हैं. बैंक की वेबसाइट से मिली जानकारी के मुताबिक, एमसीएलआर दर अब 8 फीसदी से 8.75 फीसदी के बीच होगी. बता दें कि इससे पहले मार्च महीने में भी एसबीआई ने एमसीएलआर रेट में बढ़ोतरी की थी.